Breaking News

Category Archives: शिक्षा

रीवा की जस्मिता शुक्ला ने शिविल जज परीक्षा में मध्यप्रदेश में टॉप कर रीवा का किया नाम रोशन

रीवा – मध्य प्रदेश सिविल जज परीक्षा के घोषित बेटियों ने बाजी मारी है रीवा की जस्मिता शुक्ला पहली पोजीसन, शिखा चतुर्वेदी दूसरे और रेखा दिवेदी ने तीसरा स्थान हासिल किया है. जस्मिता ने इस ऐतिहासिक सफलता को स्वयं ट्यूशन पढ़ाकर हासिल किया। जस्मिता के पिता लकवा ग्रस्त है और आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहे थे।

23 वर्षीय जस्मिता मात्र 1 वर्ष अपनी बड़ी बहन अर्पिता शुक्ला के साथ सिविल जज की परीक्षा में बैठी थी। दोनों ने फरवरी 2019 में प्री और अप्रैल माह में मेन्स क्रास किया लेकिन मंजिल तक पहुंचने के मामले में जस्मिता अपनी बड़ी बहन से आगे निकल गई। प्रदेश में जस्मिता को पहली पोजीसन मिली जबकि बड़ी बहन असफल रही. जस्मिता और उनकी बड़ी बहन वर्ष 2014 से स्कूली बच्चों को ट्यूशन पढ़ा रही हैं। जस्मिता और अर्पिता के लिए जीवन में संघर्ष उस समय बहुत ज्यादा हो गया जब उनके पिता रंगनाथ शुक्ला 8 साल पहले लकवा से ग्रसित हो गए थे. लकवाग्रस्त होने के बाद से पढाई और भरण पोषण की कठिनाइयों के लिए के लिए बहनों ने ट्यूशन पढ़ाने की शुरुआत की। हायर सेकेण्ड्री में 90 प्रतिशत से अधिक अंक लाने पर जस्मिता को छात्रवृत्ति मिल रही थी। जस्मिता ने जहां स्कूल की पढ़ाई आदर्श गल्र्स हाई स्कूल से पूरी की है वहीं बीए-एलएलबी में टीआरएस कॉलेज से 82 प्रतिशत अंकों के साथ वे टॉपर रहीं। जस्मिता को ड्राइंग और पेंटिंग का शौक भी रहा है। रंगनाथ शुक्ला और रजनी शुक्ला की बेटी बचपन से ही लगन के साथ पढ़ाई करती रहीं है। 

60 शिक्षण संस्थान स्वयं कर सकेंगे अपनी फीस का निर्धारण

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने बड़ा फ़ैसला लेते हुए 60 शिक्षण संस्थानों को स्वायत्ता दी है. 5 केंद्रीय विश्वविद्यालय जिनमें जेएनयू, बीएचयू, अलीगढ़ विश्वविद्यालय भी हैं. 21 राज्य विश्वविद्यालय, 24 डीम्ड यूनिवर्सिटी, 2 प्राइवेट विश्वविद्यालय और 8 निजी संस्थानों को स्वायत्ता दी गई है. अब ये सभी 60 शिक्षण संस्थान अपनी फ़ीस, अपना कोर्स, भर्तियां, वेतन ख़ुद ही निर्धारित कर सकेंगे.