Breaking News

Category Archives: व्यवसाय

ऑनलाइन मार्केट में कदम रखेंगे मुकेश अंबानी

मुकेश अंबानी अब ऑनलाइन मार्केट में कदम रखने जा रहे है। रिलायंस इंडस्ट्रीज अब चीन की अलीबाबा और अमेरिका की अमेजन को टक्कर देने की तैयारी में है। जल्द ही रिलायंस इंडस्ट्रीज कारोबार के लिए दुनिया का सबसे बड़ा ऑनलाइन-ऑफलाइन प्लेटफॉर्म लेकर आएगी।  मेक इन उड़ीसा कॉन्क्लेव-2018 को संबोधित करते हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा है कि कंपनी दुनिया का सबसे बड़ा ऑनलाइन-ऑफलाइन प्लेटफॉर्म तैयार कर रही है। जहां करीब 3 करोड़ कारोबारी अपना माल बेच सकेंगे

एक हुए वोडाफोन-आइडिया टेलीकॉम कंपनी

दूरसंचार विभाग ने वोडाफोन और आइडिया सेलुलर के प्रस्तावित मर्जर प्लान को अंतिम मंजूरी दे दी है। इसी के साथ देश की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी का बनने का रास्ता अब साफ हो गया है। विलय के बाद बनने वाली कंपनी का नाम वोडाफोन आइडिया लिमिटेड होगा। सूत्रों के मुताबिक, दूरसंचार विभाग ने दोनों कंपनियों के प्रमुख को सर्टिफिकेट सौंप दिए हैं।दूरसंचार विभाग ने 9 जुलाई को दोनों कंपनियों के विलय को सशर्त मंजूरी दी थी। विभाग ने कंपनियों से एकबारगी स्पेक्ट्रम शुल्क और अन्य देनदारियों का भुगतान करने को कहा था। एक दिन पहले ही आइडिया ने मर्जर की एवज में दूरसंचार विभाग को बैंक गारंटी के रूप में 7249 करोड़ रुपए दिए थे। इसके अलावा कंपनी ने यह भरोसा भी दिया है कि वह अदालती आदेश के अनुसार स्पेक्ट्रम संबंधी सभी बकायों का निपटान करेगी। स्पेक्ट्रम शुल्क टुकड़ों में भुगतान के लिए वोडाफोन इंडिया की 1 साल की बैंक गारंटी की जिम्मेदारी आइडिया को लेनी होगी। गौरतलब है कि विलय के बाद बनने वाली कंपनी देश की सबसे बड़ी दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी होगी जिसका मूल्य डेढ़ लाख करोड़ रुपए से अधिक (23 अरब डॉलर) होगा। नई कंपनी की बाजार हिस्सेदारी 35 प्रतिशत होगी और इसके ग्राहकों की संख्या लगभग 43 करोड़ होगी।

जल्द जारी होगा 100 रूपये का नया नोट

मुंबई | देश का केंद्रीय बैंक आरबीआई जल्द ही 100 रुपये का नया नोट जारी करेगा. इस नोट पर आरबीआई के गवर्नर उर्जित पटेल के दस्तखत होंगे. नोट के पीछे ‘रानी की वाव’ की तस्वीर है. इस तस्वीर के जरिए भारत की सांस्कृतिक विरासत को साझा किया जा रहा है. इस नोट का रंग लैवेंडर है. नोट पर अन्य डिजाइन, जियोमैट्रिक पैटर्न बने हुए हैं. नोट का साइज 66 एमएम गुणा 142एमएम है.

एक जुलाई को देश में मनाया जाएगा ‘जीएसटी दिवस’

नई दिल्लीः वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की पहली वर्षगांठ पर सरकार एक जुलाई 2018 को ‘जीएसटी’ दिवस के रुप में मनाएगी। नरेंद्र मोदी सरकार ने पिछले साल एक जुलाई को इसकी शुरूआत की थी। भारतीय कर सुधार की दिशा में यह सबसे बड़ा कदम था।

सांख्यिकी दिवस पर 125 रुपए का सिक्का जारी करेंगे उपराष्ट्रपति

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू 29 जून को पी सी महालनोबिस की 125 वीं जयंती के अवसर पर उनके सम्मान में 125 रुपए का स्मृति सिक्का और पांच रुपए का नया सिक्का जारी करेंगे। महालनोबिस जयंती को सांख्यिकी दिवस के रुप में मनाया जाता है।

पोषण अभियान के लिए विश्वबैंक से 20 करोड़ डालर का कर्ज लेगा भारत

नई दिल्ली : राष्ट्रीय पोषण अभियान को गति देने के लिए विश्व बैंक के साथ सोमवार को 20 करोड़ डालर के कर्ज समझौते पर हस्ताक्षर किए गए। इस कदम का लक्ष्य छह साल तक के बच्चों में कुपोषण के स्तर को मौजूदा 38.4 प्रतिशत से घटाकर 2022 तक 25 प्रतिशत पर लाना है।एक आधिकारिक बयान के अनुसार कर्ज से पहले चरण में सभी राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के 315 जिलों में अभियान को गति दी जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ मार्च को राजस्थान के झुंझुनू में पोषण अभियान की शुरुआत की थी। पोषण अभियान के अंतर्गत विश्वबैंक के सहायता वाली ‘एकीकृत बाल विकास सेवायें (आईसीडीएस) तंत्र मजबूती और पोषण सुधार परियोजना के तहत चल रही गतिविधियों को सभी जिलों में तीन साल की अवधि में धीरे – धीरे बढ़ाया जाएगा।
इसमें जोर आईसीडीएस पोषण सेवाओं का दायरा तथा गुणवत्ता में सुधार लाने पर है। इसके तहत गर्भवर्ती , दूध पिलाने वाली मां तथा तीन साल के कम आयु के बच्चों को शामिल किया जाएगा। परियोजना में आईसीडीएस कर्मचारियों तथा सामुदायिक पोषक कार्यकर्ताओं में कौशल एवं क्षमता में सुधार लाने के लिए निवेश शामिल हैं। साथ ही शिकायतों के निपटान तथा लाभाॢथयों तक बेहतर सेवा पहुंच के लिए सेवाओं की बेहतर निगरानी एवं प्रबंधन के लिए मोबाइल प्रौद्योगिकी आधारित उपकरणों के उपयोग पर भी जोर होगा।

GST परिषद ने चीनी पर सैस नहीं लगाने का किया फैसला

नई दिल्लीः जीएसटी परिषद की 27वीं बैठक आज कई अहम फैसले किए गए हैं। केंद्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली की अध्यक्षता में परिषद की बैठक में चीनी पर सैस लगाने का फैसला फिलहाल टाल दिया गया है। साथ ही जीएसटीएन को सरकारी कंपनी बनाने पर फैसला लिया गया है।जानकारी के मुताबिक, जीएसटीएन को सरकारी की 100 फीसदी हिस्सेदारी वाली कंपनी बनाने पर फैसला हो गया है। चीनी पर सैस लगाने के लिए 5 मंत्रियों का एक समूह बनाया गया है जो दो सप्ताह के भीतर इस हालात से निपटने के प्रस्ताव देगा।  वित्त सचिव हसमुख अधिया ने कहा कि जीएसटी के लिए एकल मासिक रिटर्न की नई प्रणाली छह महीने में लागू होगी।जीएसटी का सॉफ्टवेयर संभालने वाली जीएसटीएन है। जीएसटीएन में सरकार 51 फीसदी निजी हिस्सेदारी खरीद सकती है। नए नियमों के तहत जीएसटीएन बोर्ड में 4 डायरेक्टर शामिल किए जाएंगे। मौजूदा कर्मचारियों की सैलेरी और दूसरी शर्तें 5 साल तक जारी रहेंगी।यह बैठक ऐसे समय हो रही है जब माल एवं सेवा कर (जीएसटी) संग्रह अप्रैल में एक लाख करोड़ रुपए से अधिक पहुंच गया। यह एक रिकार्ड है। सरकार का कुल जीएसटी संग्रह पिछले महीने 1.03 लाख करोड़ रुपए रहा। पिछले साल एक जुलाई से लागू जीएसटी संग्रह पूरे वित्त वर्ष 2017-18 में 7.41 लाख करोड़ रुपए रहा। किडनी की बीमारी से ग्रसित जेटली को डाक्टरों ने संक्रमण से बचने के लिए ज्यादा लोगों से मिलने-जुलने से मना किया है। इसीलिए बैठक वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए की गई।

एक लाख करोड़ रुपए से अधिक के बैंक धोखाधड़ी के मामले आए सामने : रिजर्व बैंक

नई दिल्लीः विभन्न बैंकों में पिछले 5 साल में एक लाख करोड़ रुपए से अधिक के 23,000 बैंक धोखाधड़ी के मामले सामने आए। सूचना के अधिकार (आर.टी.आई.) के तहत पूछे गए सवाल के जवाब में रिजर्व बैंक ने कहा है कि अप्रैल, 2017 से एक मार्च, 2018 तक 5,152 बैंक धोखाधड़ी के मामले सामने आए। 2016-17 में यह आंकड़ा 5,000 से अधिक था। केंद्रीय बैंक के अनुसार अप्रैल, 2017 से एक मार्च, 2018 के दौरान सबसे अधिक 28,459 करोड़ रुपए के बैंक धोखाधड़ी के मामले सामने आए। 2016-17 में 5,076 मामलों में बैंकों के साथ 23,933 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी हुई थी। 2013 से एक मार्च, 2018 के दौरान एक लाख रुपए या उससे अधिक के बैंक धोखाधड़ी के कुल 23,866 मामलों का पता चला। आर.टी.आई. से मिले जवाब के अनुसार इन मामलों में कुल 1,00,718 करोड़ रुपए की राशि फंसी हुई है। इसका ब्योरा देते हुए रिजर्व बैंक ने कहा है कि 2015-16 में बैंकों के साथ धोखाधड़ी के 18,698 करोड़ रुपए के 4,693 मामले प्रकाश में आए। 2014-15 में 19,455 करोड़ रुपए के 4,639 मामले पकड़े गए थे।वित्त वर्ष 2013-14 में बैंकों में कुल 4,306 धोखाधड़ी के मामले सामने आए। इनमें कुल 10,170 करोड़ रुपए की राशि फंसी थी। ये आंकड़े इस दृष्टि से महत्वपूर्ण हैं कि केंद्रीय जांच एजेंसियां सी.बी.आई. और प्रवर्तन निदेशालय कई बड़े बैंक धोखाधड़ी के मामलों की जांच कर रहा है। इनमें पंजाब नैशनल बैंक का 13,000 करोड़ रुपए का घोटाला भी शामिल है। इस घोटाले का सूत्रधार नीरव मोदी और उसका मामा गीतांजलि जेम्स का प्रवर्तक मेहुल चोकसी है।सी.बी.आई. ने हाल में आई.डी.बी.आई. बैंक के साथ 600 करोड़ रुपए की कर्ज धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार दिसंबर, 2017 तक सभी बैंकों की गैर निष्पादित आस्तियां (एन.पी.ए.) 8,40,958 करोड़ रुपए थी। सबसे अधिक एनपीए सार्वजनिक क्षेत्र के भारतीय स्टेट बैंक का 2,01,560 करोड़ रुपए था। वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ला द्वारा 9 मार्च को लोकसभा को दी गई जानकारी के अनुसार, इस अवधि तक पंजाब नैशनल बैंक का एनपीए 55,200 करोड़ रुपए, आईडीबीआई बैंक का 44,542 करोड़ रुपए, बैंक आफ इंडिया का 43,474 करोड़ रुपए, बैंक आफ बड़ौदा का 41,649 करोड़ रुपए, यूनियन बैंक आफ इंडिया का 38,047 करोड़ रुपए, केनरा बैंक का 37,794 करोड़ रुपए, आईसीआईसीआई बैंक का 33,849 करोड़ रुपए था।

भारती इंफ्राटेल और इंडस का का होगा विलय , बनेगी भारत की सबसे बड़ी टावर कंपनी

नई दि‍ल्‍लीः देश की सबसे बड़ी टैलीकॉम कंपनी भारती एयरटेल ने इंडस टावर और भारती इंफ्राटेल के मर्जर की मंजूरी दे दी है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि‍ इस मर्जर से बनी नई कंपनी भारत के 22 सर्कि‍ल्‍स में 1.63 लाख टावर के साथ चीन के बाहर दुनि‍या की सबसे बड़ी मोबाइल टावर कंपनी बन जाएगी। बुधवार को भारती एयरटेल की तरफ से यह जानकारी दी गई है।मर्जर के बाद बनने वाली कंपनी के पास इंडस टावर्स की 100 फीसदी हि‍स्‍सेदारी होगी। इंडस टावर्स में इस वक्‍त भारती इंफ्राटेल (42 फीसदी), वोडाफोन (42 फीसदी), आइडि‍या ग्रुप (11.15 फीसदी) और प्रोवि‍डेंट (4.85 फीसदी) की ज्‍वाइंट ओनरशि‍प है।  भारती इंफ्राटेल और इंडस टावर्स के कारोबार का पूरा स्‍वामि‍त्‍व नई कंपनी के पास होगा और इसका नाम बदलकर इंडस टावर्स लि‍मि‍टेड हो जाएगा। साथ ही, यह इंडि‍यन स्‍टॉक एक्‍सचेंज पर लि‍स्‍टेड भी रहेगी। बयान में कहा गया कि‍ भारती इंफ्राटेल और इंडस टावर के मर्जर से नई टावर कंपनी सामने आएगी। कंपनी सभी 22 टेलि‍कॉम सर्किल में ऑपरेट करेेेेगी और वह देश भर में 1.63 लाख टावर बनाएगी। नई कंपनी चीन के बाद दुनि‍या में सबसे बड़ी टावर कंपनी होगी। भारती इंफ्रोटेल और इंडस टावर्स के संबंधि‍त कारोबार का पूरा स्‍वामि‍त्‍व नई कंपनी के पास होगा और इसका नाम बदलकर इंडस टावर्स लि‍मि‍टेड हो जाएगा।

भारत के आर्थिक सुधारों के परिणाम आने लगे: IMF

वाशिंगटनः अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आई.एम.एफ.) का कहना है कि भारत द्वारा लागू किए गए आर्थिक सुधारों का परिणाम सामने आने लगे हैं और इससे लोगों को फायदा भी हुआ है। इससे इस तरह के और कदम उठाने का आधार मजबूत हुआ है।आई.एम.एफ. के उप प्रबंध निदेशक (प्रथम) डेविड लिप्टन ने कहा कि कई अड़चनों के बावजूद माल व सेवाकर (जी.एस.टी.) को लागू किए जाने से लोक वित्त का आधार मजबूत तथा सुरक्षित करने में मदद मिलेगी। लिप्टन ने कहा कि बैंकों की समस्याओं से निपटने के लिए हाल में उठाए गए कदम भी महत्वपूर्ण हैं। डिजिटल पहचान तकनीक और अन्य ढांचागत सुधार इत्यादि उल्लेखनीय कदम है जो समावेशी वृद्धि और भारत को एक आर्थिक केंद्र बनाने की दिशा में महत्वपूर्ण हैं।आई.एम.एफ. और विश्वबैंक की ग्रीष्मकालीन बैठक के अवसर पर उन्होंने कहा, “निश्चित रूप से अभी बहुत कुछ किया जाना बाकी है लेकिन भारत ने अब तक जो कदम उठाए हैं उनका फायदा दिख रहा है।” उन्होंने कहा, “भारत के सुधारों का परिणाम अब सामने आ रहा है और इसे हम वृद्धि के रुप में देख सकते हैं। भारत की वृद्धि दर पिछले साल 6.7 फीसदी थी और अब हमारा अनुमान इस वित्त वर्ष में इसके 7.4 फीसदी रहने और उसके अगले साल 7.8 फीसदी रहने का है। यह एक स्वस्थ वृद्धि है और इतने बड़े देश के लिए बहुत मायने रखती है।”