Breaking News

Daily Archives: October 4, 2019

सभी 52 जिलों में पहुँचेगा गाँधी दर्शन यात्रा रथ – मुख्यमंत्री

रीवा |मुख्यमंत्री  कमल नाथ ने राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की 150वीं जयन्ती पर आर.सी.वी.पी. नरोन्हा प्रशासन अकादमी में जनसम्पर्क एवं संस्कृति विभाग के “गाँधी दर्शन यात्रा रथ” को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। यह रथ यात्रा प्रदेश के सभी 52 जिलों में पहुँचकर जन-जन को विभिन्न संचार माध्यमों से गाँधी जी के विचारों से अवगत कराएगी।
गाँधी जयंती पर  शुरू हुई यह रथ-यात्रा 2 अक्टूबर 2020 तक प्रदेश के सभी सुदूर अंचलों में पहुँचेगी। इस यात्रा के लिए तैयार किए गए रथ में महात्मा गाँधी के विचारों से प्रेरित फिल्मों का प्रदर्शन, आश्रम, भजनावली, गीत, गाँधी जी पर केन्द्रित प्रदर्शनी और नुक्कड़ नाटक आदि का प्रदर्शन किया जाएगा।
गाँधी दर्शन यात्रा के लिए तीन प्रचार रथ तैयार किए गए हैं। पहला प्रचार रथ ओपन प्लेट फार्म वाला रहेगा, जिसमें नुक्कड़ नाटक की टीम चलेगी। वाहन पर खादी ग्रामोद्योग के लिए भी एक स्टॉल होगा। दूसरे रथ में महात्मा गाँधी के विचारों से प्रेरित फिल्में और मुख्यमंत्री का संदेश प्रसारित किया जाएगा। तीसरे रथ में गाँधी जी पर केन्द्रित एलईडी प्रदर्शनी लगाई जाएगी। जीपीएस सिस्टम से जुड़े इस रथ से प्रत्येक जिले में रविवार के दिन महात्मा गाँधी पर केन्द्रित सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे।

कांग्रेसियो का आरोप बापू भवन में रखा अस्थि कलश हुआ गायब

रीवा | लक्ष्मणबाग संस्थान के बापू भवन में रखी फ़ोटो में राष्ट्रद्रोही लिखने वाले अज्ञात व्यक्ति पर बिछिया थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है ।पुलिस ने कांग्रेस की शिकायत पर भारतीय दंड सहिता की धारा 153B,504और505 का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

1948 में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की मृत्यु उपरांत प्रयागराज ले जाते समय रीवा के लक्ष्मण बाग संस्थान में उनके अस्थि कलश अंतिम दर्शन के लिए जिस कक्ष में रखा गया था ।उस कक्ष को बापू भवन के नाम से सहेजा गया था ।गांधी जयंती के दिन जब कांग्रेसी वहां पहुंचे तो वहां रखे गांधी जी के फ्लैक्स फोटो पर महात्मा गांधी राष्ट्रद्रोही लिखा हुआ था ।जिसके बाद कांग्रेसी आक्रोशित हो गए और बिछिया थाने पहुंचे ।जहां ऐसा करने वाले अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ FIR दर्ज कराई ।साथ ही उस कक्ष में अस्थि कलश रखे होने की बात कहते हुए 15 वर्षों तक शासन सत्ता में रही भाजपा के राज में अस्थि कलश गायब होने आशंका जाहिर करते हुए ढूढने की बात कही।

पूरे मामले पर पुलिस अधीक्षक ने बताया की महात्मा गांधी की फोटो पर राष्ट्रद्रोही लिखने वाले के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।कलश होने या उसके चोरी होने की कोई औपचारिक शिकायत प्राप्त नहीं हुई है हाँ कुछ लोगों द्वारा वहां कलश रखे और अब न होने की बात कही जा रही है पर हमें इसके बारे में बहुत जानकारी नहीं है ,अगर कोई शिकायत हुई तो उसकी भी जांच की जाएगी।और जिस संस्थान में यह घटना हुई वह एक ट्रस्ट द्वारा संचालित है तो ट्रस्ट को जांच करनी चाहिए की क्या इस तरह का कोई कलश था?और था तो कहां गया?